बकरी पालन शेड बनाने का तरीका, शेड कैसे बनाएं

बकरी पालन के लिए एक उपयुक्त और सुरक्षित घर का निर्माण बहुत महत्वपूर्ण होता है। यह आपकी बकरी के स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए आवश्यक होता है। यदि आप बकरी का शेड बनाने की सोच रहे हैं, तो इस आलेख में हम आपको बताएंगे कि कैसे आप बकरियों के लिए एक उपयुक्त शेड को तैयार कर सकते हैं।

पोस्ट में क्या है देखिये

अगर आप गांव में रहते हैं तो इस स्थान पर बकरी पालन आपके लिए बेहतर होगा क्योंकि गांव में कई प्रकार के पेड़-पौधे मिल जाते हैं जैसे कि शहतूत के पत्ते, बेरी के पेड़ के पत्ते, आम के पेड़ के पत्ते आदि बकरी इनको बहुत ही चाव से खाती है।

इन पत्तों को खाने से बकरी के पेट का भरण पोषण अच्छे से होता है। यह बकरी ओर जानवरों के जैसे चारा नहीं खाती है जैसे कि हम कुट्टी मशीन से काटकर खिलाना चाहते हो तो ऐसा खाना नहीं चाहती है यह एक खुले में घास चरना चाहती है।

बकरी पालन शेड बनाने का तरीका

bakri palan shed banaane ka tarika shed kaise banaye janiye hindi me

बकरी के लिए एक अच्छा घर उसकी सेहत और सुरक्षा के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है बकरी का शेड तैयार करने के लिए सबसे पहले आपको इन सभी चीजों की आवश्यकता पड़ेगी जैसे की नक़्शे, उपयुक्त स्थान, उचित फेंसिंग, सोने के लिए जगह, वेंटिलेशन, आवश्यक उपकरण और सामग्री इत्यादि। नीचे दिए गए चरणों का पालन करके आप एक बकरी के लिए उपयुक्त घर तैयार कर सकते हैं:

नक़्शे का निर्धारण करें: एक नक्शा बनाएं जिसमें शेड की आकृति और साइज का विवरण हो। यह आपको शेड की आवश्यकताओं और आपके बजट के अनुसार बनाने में मदद करेगा।

शेड के लिए उपयुक्त स्थान का चयन करें: शेड को बनाने के लिए सबसे पहले आपको उस जगह का चयन करना होगा जहां पर पर्याप्त रूप से स्थान हो जिसमें आप बकरियों के लिए शेड बना सकते हो। ध्यान रखें कि बकरियों के लिए शेड सूर्य के अधिक ताप को रोकने वाला होना चाहिए।

उचित फेंसिंग: एक उचित फेंसिंग लगाएं जिसको बकरी तोड़ न सके और न ही कूद कर बाहर जा सके। बकरी को स्वतंत्र घूमने और खाने के लिए पर्याप्त स्थान भी उपलब्ध कराएं।

सोने के लिए जगह: एक बकरी को रात में सोने के लिए एक सूखी और साफ जगह चाहिए। यह उसकी सेहत बनाए रखने के लिए आवश्यक है।

उपयुक्त वेंटिलेशन: बकरी के लिए एक उचित वेंटिलेशन सिस्टम होना जरूरी है जो उसे स्वस्थ बनाए रखेगा। यह उसे ठंड से बचाने और गर्मी से राहत देने में मदद करता है।

आवश्यक उपकरण और सामग्री का इंटरनेट करें: बकरी पालन शेड बनाने के लिए आपको कुछ आवश्यक उपकरण और सामग्री की जरूरत होगी जैसे कि लंबे-चौड़े लकड़ी का बॉर्ड, जंगली बिल्डिंग लकड़ी, छत के लिए शीट या गुटका, बोल्ट और नट, पंखे, लाइटिंग, इत्यादि। आप निकटतम भंडारण संगठन या हार्डवेयर स्टोर से उपकरण और सामग्री खरीद सकते हैं।

शेड का निर्माण करें: शेड निर्माण के लिए, सबसे पहले एक स्थापत्य निर्माता को बुलाएं या अगर आपके पास अनुभव और योग्यता है तो आप इसे स्वयं भी बना सकते हैं।

बकरी पालन शेड के लिए सबसे पहले हमें कुछ लकड़ी, घास और रस्सी की आवश्यकता पड़ेगी पहले हम लकड़ियों को क्रम बाई रख लेंगे और उसके ऊपर घास बिछा देंगे। फिर दोबारा उसके ऊपर लकड़ियां क्रम से रख देंगे।

फिर हम सुतली के माध्यम से उसको बांध देंगे इस तरह से हमें 6 बाढा का ढांचे तैयार कर लेने हैं फिर उनको A सीप घर का आकार दे देना है।

और एक बात शेड बनाने के लिए कम से कम 25×30 की जगह लेने की आवश्यकता पड़ेगी इससे ज्यादा नहीं लेना चाहिए क्योंकि उसमें नमी हो जाती है जो सूखने में भी टाइम लेता है और हवा भी सही से पासिंग नहीं होती है।

बकरी पालन व्यवसाय कैसे शुरू करें? Bakri palan business kaise kareयहां क्लिक करें

शेड बनाते समय में ध्यान देना है

  • दोनों साइड जो दीवार होती है आमने-सामने की उसमें हवा पासिंग के लिए जगह छोड़ देनी है।
  • उसमें जाली लगा देना है जिससे कि मच्छर मक्खी ना जा सके।
  • हवा पासींग ठीक से हो और बकरी को गर्मी कम लगे।
  • हवा पासिंग से जगह भी जल्दी सूख जाती है जो बकरी ने पेशाब किया होता है।
  • फिर हम उस घर में बकरियों को रख सकते हैं बकरी को एक साफ सुथरी जगह चाहिए जहां पर कोई गंदगी ना हो बकरी को नमी गिला जगह बिल्कुल पसंद नहीं है मैं सुखी जगह में रहना पसंद करते हैं ।

Bakri Palan शेड तैयार करने के लिए जगह

बकरी को रहने के लिए एक अच्छे सैड की आवश्यकता पड़ेगी जो कि इनके लिए अति आवश्यक है अगर आप 20 बकरी पालते हैं तो आपको 400 वर्ग फीट स्थान की आवश्यकता पड़ेगी!

bakri palan shed tyar karne ke liye jagha kitani chahiye

अगर आप 20 और 50 बकरी से अधिक पालना चाहते हैं तो हमने नीचे सारणी दी है

उसमें आप पूरी जानकारी पढ़ सकते हैं कि छोटे बकरी के बच्चे और बड़े बकरी के बच्चे उनमें उम्र का हिसाब होता है।

3 महीने के बच्चे होते हैं 6 महीने के बच्चे और 1 साल के बकरी के बच्चे उनके रहने के लिए उचित स्थान की आवश्यकता होती है और

बकरी और उनके बच्चे मैं उम्र का हिसाब होता है

उनके रहने के लिए जब हम बकरी का शेड तैयार करते हैं तो उसी के अंदर अलग-अलग लकड़ी का घेरा बनाना पड़ता है और उन बकरी को उस घेरे में रखना चाहिए।

जो 3 महीने के बच्चे हैं उनको एक साथ और जो 6 महीने के बच्चे हैं

उनको एक घेरे में एक साथ रखना चाहिए और जो 1 साल के बच्चे हैं उनको भी एक साथ रखना चाहिए अलग-अलग घेरे में जिससे कि बड़े बकरी छोटे बच्चों को ना मारे।

पशुपालन

बकरी रहने के लिए जगह

अगर आप बकरी पालना चाहते हैं और उसके रहने के लिए जगह के बारे में सोच रहे हैं कि कितना बकरी खरीदें और बकरी के वजन और अवस्था के आधार पर उनके रहने के लिए कितनी जगह होनी चाहिए

इसकी पूरी जानकारी नीचे एक टेबल दी गई है आप उस शारणी उसको पढ़ कर अपनी आवश्कता अनुसार बकरी के रहने के लिए जगह बना सकते हैं।

  • एडल्ट बकरी 12 से 16 स्क्वायर फीट
  • प्रेग्नेंट बकरी 18 से 20 स्क्वायर फीट
  • ब्रिटनी बक, बकरा 22 से 25 स्क्वायर फीट

छोटे बकरी के बच्चे रहने की जगह

अगर बकरी के बच्चे तीन महीने के होते हैं उनके रहने के लिए 4×4 स्क्वायर फीट जगह होना चाहिए।

बकरी के बच्चे 3 से 6 महीने के होते ही उनके रहने के लिए 8 स्क्वायर फीट जगह होनी चाहिए।

बकरी के बच्चे 6 से 12 महीने के होते हैं उनके रहने के लिए 10 स्क्वायर फीट जगह होनी चाहिए।

चुनाव करें कैसे शेड बनाना है। लोहे का, मिट्टी का, लकड़ी का या फिर जो पड़ेगा।

A. एक तो यह जरिया है अगर आपके पास पैसा बजट है तो मार्केट से यह सारे सामान खरीद लाए जो एक सेड बनाने के लिए अति आवश्यक है जो

इस प्रकार है जैसे की ईट, रेता, बजरी, सीमेंट, सरिया, और एक मिस्त्री और

एक हेल्पर जो इस काम को पूरा करने के लिए चाहिए सबसे पहले मिस्त्री आप से पूछेगा कि आपको कितने बाई कितने का शेड बनाना है।

जैसे कि 15×20 फिर मिस्त्री जगह को नापेगा उसके बाद बुनियाद खोदने कहेगा हेल्पर को और चार कोने में कोलम भी खड़ा करेगा

जिससे की जब मसाले का लेंटर डालेगा तब उस कॉलम पर लेंटर का भार पड़ेगा जिससे लेंटर आसानी से टिका रहेगा साथ ही साथ ईट से चिनाई करके 4 बाउंड्री की दीवार खड़ी कर ले और

जमीन से दीवार की ऊंचाई 1 मीटर पर हवा पासिंग के लिए जगह छोड़ दे।

जिससे बकरियों को गर्मी ना लगे और जो उसके अंदर गैस होती है वह भी बाहर निकल जाए और उसी स्थान पर बकरी जो ने मल मूत्र किया वह जल्दी सूख जाए और

एक बात जो दीवार पर हां बस उनके लिए जगह छोड़ी उसमें बारिक जाली लगा दें जिससे मच्छर, मक्खी अंदर ना आए जिससे बकरी कमजोर और बीमार पड़ने की संभावना हो सकती है।

B. दूसरा जरिया गया है कि आप मिट्टी की दीवार खड़ी कर ले अगर आपके पास जमीन है तो आप खुद ही मिट्टी खेत से लाकर उसमें पानी डालकर आटा के जैसे गुदं ले और

फिर एक रस्सी धागा ले चार कोने में खूंटी गाड़ कर उसको बांध दें और उसी के सीधाई में वह मिट्टी को रखते जाय।

जिससे कि आपकी दीवार में सफाई आएगी और सीधा भी बनेगा जिससे की दीवार गिरने की संभावना कम रहेगी और मजबुत भी आएगी और कुछ दिन में दीवार बन जाएगी फिर आप उसके ऊपर घास या फिर टीन लगा दे जैसा आपके पास बजट है,

अगर बजट है तो टीन लगा दे नहीं तो दीवार के ऊपर घास बिछाकर लगा दे

जिससे आपका कम बजट में शेड बनकर तैयार हो जाएगा इसमें केवल आपको मेहनत करनी पड़ेगी।

C. तीसरा फार्मूला यह है कि अगर आपके पास थोड़ा बजट है और आप बकरी का शेड बनाना चाहते हैं तो मैं आपको बताने जा रहा हूं यह फार्मूला बहुत ही अच्छा है।

सबसे पहले आप ईट के दीवार चिनाई करके खड़ी करोगे और उसके ऊपर लोहे की पाइप आवश्यकतानुसार लगाएंगे फिर उसके ऊपर सीमेंट की चादर बिछाकर लोहे का एंगल से उस चादर को कस देंगे

फिर उसके ऊपर कुछ घास-फुस बिछा दे जिससे कि चादर कम गरम हो और बकरी को गर्मी कम लगे।

राजस्थान में बकरियों की प्रमुख नस्लें एवं जानकारी

एक सूची तैयार करें शेड की लागत की

bakri palan shed tyar karane ke liye ek suchi tyar kare

मिट्टी के दीवार और उसके ऊपर घास या टीन लगाकर सेट बनाने की लागत 6000 रूपये

ईट की दीवार और पक्का मकान लेंटर का शेड बनाने की लागत

चार खंबे गार्ड के उसके किनारे जाली लगा दे और उसके ऊपर सीमेंट की चादर बिछाकर की लागत

लकड़ी और घास फुस से बनाकर शेड तैयार करने की लागत 4000 रूपये

एक अच्छे मिस्त्री का चुनाव करें।

मिस्त्री सारे ही अच्छे होते हैं और सभी अच्छे से ही काम करते हैं अब डिसाइड यह करना है आपको बकरी के लिए आप किस तरह के शेड बनाना चाहते है टीन के घर, बकरी रहने के लिए सबसे अच्छा घास के शेड अच्छा होता है।

बकरी के शेड का ढांचे का चुनाव कैसे करें

अगर आप बकरी पालना चाहते हैं और उनके रहने के लिए शेड बनाना चाहते हैं, तो आप दो प्रकार से बना सकते हैं जैसे कि पहला तो आप A शिप आकार देकर शेड बना सकते हैं इस तरह का आकार देने से जब वर्षा होती है इस पर पानी नहीं रुकता है।

और दूसरा फायदा यह है कि जब उस शेड पर सूर्य कि प्रकाश पड़ती है तो उस जगह पर तो गरम होता है लेकिन दूसरी साइड छाया रहती है तो वहां ठंडी रहती है! जिससे बकरियों को गर्मी कम लगती है। और वहां आराम से शेड में रहती है।

बकरों की बीमारी का घरेलू इलाज

शेड बनाने की प्रक्रिया शुरू करें

अगर आप शेड बनाना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको अच्छा जगह की तलाश करनी है जहां पर साफ सफाई होगी क्योंकि बकरी ज्यादातर साफ सफाई में रहना पसंद करते हैं फिर आपको कुछ लकड़िया की आवश्यकता पड़ेगी जिससे उनका घेरा बनाया जा सके और घास की भी आवश्यकता पड़ेगी जब आप घेरा बनाएंगे तो उसके साइड में लगा देंगे।

जिससे धूप बारिश पानी अंदर ना आ सके और ऊपर A सीप आकार देकर झोपड़ी तैयार कर लेना है फिर उसके बाद अगर आपके पास ईटे हैं तो घर अंदर उन ईटों को बिछा दें जिससे बकरियां मल मूत्र करें तो कीचड़ ना हो और आसानी से जगह सुख भी जाए।

आपका शेड बनने में कितना समय लगेगा

अगर हमारे पास घास फूस पहले से ही है, और हमारे पास एक अच्छा मिस्त्री है जिसको इस काम की नॉलेज हो और वह इस काम को करता हो तो फिर शेड बनाने में हमें ज्यादा दिन नहीं लगेगा मात्र 10 दिन में हम बना लेंगे और दो व्यक्ति होने चाहिए शेड बनाते समय अगर एक व्यक्ति काम करेगा तो बहुत समय लग जाएगा।

और अगर आप पक्के मकान को बनाने जा रहे हैं तो इसमें कम से कम एक महीने लग जाएगा और काफी सामान खरीदना पड़ेगा और यह समान महंगे भी मिलेंगे।

शेड तैयार हो जाने के बाद क्या करें

अगर आपका शेड बनकर तैयार हो जाता है तो सबसे पहले आप 10 बकरी खरीद के लाए और उन्हें उस शेड में रखें और अगर आपके पास पैसा है तो उनको चौखर दाना भी लाकर खिलाए जिससे उनकी हेल्थ तंदुरुस्त अच्छे हो और यह बकरी खुले में चारा खाना पसंद करती है।

यह और जानवरों के जैसे नहीं है जो हम खेत में वह के चारा काट कर ला कर देते हैं यह बिल्कुल पसंद नहीं करती है खुले में घूम कर चारा खाना पसंद करती है और यह कई प्रकार की घास खाती है और यह ज्यादातर कटीली झाड़ी और पत्ते खाना पसंद करती है और इनका दूध बीमारी में भी उपयोग में लिया जाता है।

जब इंसान के शरीर में प्लेट डाउन हो जाती है तब उसका दूध पिया जाता है जिससे बीमारी ठीक हो जाती है। इन बकरियों की साफ-सफाई भी करना बहुत जरूरी है जिस जगह पर या रहते हैं उन्हें गिला बिल्कुल पसंद नहीं है यह साफ सुथरी जगह में रहना पसंद करते हैं।

कम खर्चे में बकरी फार्म शेड कैसे बनाएं

अगर आपके पास पैसा बहुत कम है और आप बकरी फार्म खोलना चाहते हैं तो आप सबसे पहले आपको अपने नजदीकी गांव के आस-पास घास-फुस देखना है, अगर वहां मिल जाए तो उसको काट कर सुखा देना है।

जब सुख जाए फिर आपको कुछ पतली लकड़िया कर्म बाई से रखें और उसके ऊपर घास को बिछा दो फिर उसके ऊपर पतली लकड़ी को कर्म से रखकर और

सुतली के माध्यम से उसको बांध दे ऐसे ही आपको दो नाचे तैयार कर लेना और उनको A का आकार दे देना है जी उसका शेड बना लेना है।

अगर यह घास नहीं मिला तो आप अपने नजदीकी बाजार जाए और हार्डवेयर की दुकान से त्रिपाल खरीद कर ले आए और चार खुटे गाडकर उसके ऊपर डाल दें और खुटे के साइड में लकड़ी का घेरा बना दे

जिससे की बकरियां बाहर ना निकल सके इसमें आपको बहुत कम खर्चा लागत लगेगी और आपका फार्म बनकर तैयार हो जाएगा। जिससे आप अपना अच्छे से बकरी पालन का बिजनेस कर सकते हैं।

बकरी पालन के लिए जगह कैसा होना चाहिए?

बकरियों को पालने के लिए प्रदूषण रहित, स्वच्छ और हवादार जगह का चुनाव करना चाहिए। इस कारण से शहर या किसी चारागाह से दूर ग्रामीण क्षेत्र में बकरी पालन व्यवसाय शुरू करना सबसे अच्छा है।

आप निम्न बिंदुओं के आधार पर बकरियों को पालने के लिए एक अच्छी जगह चुन सकते हैं-

  1. शुद्ध हवा- जहां आप अपनी बकरियों के लिए शेड बनाना चाहते हैं, वहां शुद्ध हवा होनी चाहिए।
  2. पानी की व्यवस्था- बकरियों को पीने के लिए उपयुक्त स्थानों पर ठंडा पानी उपलब्ध कराया जाना चाहिए। इसके अलावा बकरी के दैनिक मल और मूत्र को साफ रखने के लिए पानी की जरूरत होती है।
  3. चारे के लिए उगाई लायक जमीन- बकरी खुली हवा में चरना पसंद करती है और स्वस्थ भी रह सकती है। इसलिए जहां आप बकरियां पालना चाहते हैं, वहां चारा उगाने के लिए उपयुक्त भूमि होनी चाहिए। बकरी पालन
  4. पशु चिकित्सा सुविधा- जहां आप अपना बकरी पालन व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं वहां पशु चिकित्सा सुविधा होनी चाहिए। यदि किसी बकरी की तबीयत अचानक बिगड़ जाती है तो उसका तत्काल इलाज किया जा सकता है।
  5. परिवहन सुविधाएं- बाजार से बकरियों के लिए अनाज या चारा लाने के लिए परिवहन या सड़क की सुविधा होनी चाहिए। इस तरह आप बाजार से बस या अपने दम पर जल्दी पहुंच सकते हैं।

बकरी पालन शेड योजना क्या है?

जैसा कि आप लोगों को पता है ग्रामीण क्षेत्रों में गाय और भैंस पाले जाते हैं ठीक उसी प्रकार केंद्र सरकार ने ग्राम वासियों के लिए भेड़ और बकरियां खरीदने के लिए तीन लाख तक का लोन प्रदान कराया जा रहा है! अगर आप भी बकरी पालने के लिए लोन लेना चाहते हैं तो ले सकते हैं और अपना कारोबार कर सकते हैं।

बकरी शेड में मुर्गी या भैंस को रखा जा सकता है?

अगर आप बकरी पालन पहले से कर रहे हैं और अगर आपको उसमें बिजनेस में मुनाफा नहीं हो रहा है उस काम को छोड़ना चाह रहे हैं और आप चाहते हैं कि कोई दूसरा बिजनेस जैसे कि मुर्गी पालन व्यापार किया जाए या फिर भैंस पालकर दुध का कारोबार चाहते हैं तो यह भी अच्छा बिजनेस है और आप उस शेड में इन्हे पाल सकते हैं!

बकरी पालन से पूछे जाने वाले प्रश्न

बकरी पालन व्यवसाय कैसे करें?

बकरी पालन का बिजनेस करने के लिए सबसे पहले सही नस्ल का चुनाव करना जरूरी होता है. फिर इसके बाद बकरियों के लिए शेड की व्यवस्था करनी होगी और अधिक जानने के लिए आप इस लेख को पढ़ सकते हैं।

बकरी पालन के लिए कितनी जगह चाहिए?

एक बकरी के लिए कम से कम 20 वर्ग फीट जगह की जरूरत होती है। अगर आप इस तरह 10 बकरियां पाल रहे हैं तो आपको 200 वर्ग फुट जगह की जरूरत होगी।

बकरी पालन शुरू करने के लिए कितना खर्च आता है?

ज्यादातर राज्यों में, बकरी पालन के लिए शुरुआती खर्च आमतौर पर एक बकरी की कीमत से शुरू होता है। यदि आप अधिक संख्या और अधिकतम लाभ के लिए बकरी पालन करना चाहते हैं, तो आपको 1.5 लाख से 3 लाख का खर्चा आएगा।

बकरी पालन व्यवसाय में दूध उत्पादन किन बकरियों से होता है?

बकरी पालन व्यवसाय में दूध उत्पादन के लिए सबसे ज्यादा दूध देने वाली 5 बकरी की उत्तम नस्लें:- बिटल 4 से 6 लीटर प्रतिदिन दूध, जमुनापारी 3 से 5 लीटर प्रतिदिन दूध, बारबरी 3 से 4 लीटर प्रतिदिन दूध , सुरती 2.5 से 3 लीटर प्रतिदिन दूध, मेहसाना 2 से 3 लीटर प्रतिदिन दूध इत्यादि।

बकरी पालन व्यवसाय में मांस उत्पादन के लिए बकरियों की नस्ल कौन सी है?

बकरी पालन व्यवसाय में मांस उत्पादन के लिए सबसे ज्यादा पाले जाने वाली 5 उत्तम नस्लें: अफ्रीकन बोर, सिरोही, सोजत, बोअर, बिटल और ब्लैक बंगाल आदि, जिसे देश के हर राज्य में अधिक संख्या में पाला जा रहा है और इनकी डिमांड भी बढ़ती जा रही है।

यह पोस्ट केसी लगी?
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

2 thoughts on “बकरी पालन शेड बनाने का तरीका, शेड कैसे बनाएं”

Leave a Comment