गाभिन (गर्भवती) बकरी से संबंधित पूरी जानकारी

गाभिन (गर्भवती) बकरी: आज के इस आर्टिकल में हम आपको गाभिन (गर्भवती) बकरी से संबंधित सारी जानकारी देने वाले हैं। जैसे बकरी कितने महीने में गाभिन हो जाती है, अगर आप की बकरी हीट में नहीं आ रही तो उसे हीट में कैसे लाएं, गाभिन बकरी की देखभाल कैसे करें? इन सब के बारे में हम आपको बताएंगे। जिससे आपको बकरी पालन में बहुत मदद मिलेगी और आपका बहुत फायदा भी होगा।

बकरी कितने महीने की गाभिन होती है?

अगर आप घर पर बकरी पालन करते हैं तो उसके लिए गाभिन या क्रॉस करवाने की सही उम्र 10 महीने से लेकर 12 महीने तक होती है। अगर आपके कोई बकरी हीट में आई है तो उस बकरी को 8 से 16 घंटे के बीच में बकरे के साथ क्रॉस करवाना चाहिए।

Bakri kitne mahine ki gabhin hoti hai

यदि आपकी बकरी सुबह के समय में हीट में आती है तो उस बकरी को शाम के समय गाभिन करवाएं। यदि शाम के समय हीट में आती है तो उस बकरी को सुबह के समय गाभिन करवाएं।

क्या आप जानते है बकरी पालन कैसे करें?

यह आर्टिकल भी पढ़ें बकरियों की प्रमुख नस्लें एवं जानकारी

बकरी गाभिन है या नहीं कैसे पता करे? (बकरी प्रेग्नेंट है कैसे पता करें)

बकरी प्रेग्नेंट है कैसे पता करें बकरी गाभिन हुई या नहीं हुई इसका पता करने के लिए मुख्य बिंदु यह है कि मीटिंग के अगले 15 दिन तक किसी भी प्रकार का डिस्चार्ज नहीं आना चाहिए।

सिर्फ एक या दो बार को छोड़कर अगर आपकी बकरी 15 दिन में एक या दो से अधिक बार डिस्चार्ज कर रही है। तो आपकी बकरी गाभिन नहीं है। यदि यह बकरी 15 दिन में एक या दो बार ही डिस्चार्ज करती है तो इसका मतलब आपकी बकरी गाभिन है।

बकरी को हीट में लाने का तरीका

बकरी को हीट में लाने के लिए हम आपको 2 प्रोसेस बताने वाले हैं

Bakri ko heat mein lane Ka Tarika
  1. डीवॉर्मिंग- डीवॉर्मिंग का मतलब है यानी पेट के कीड़े मारने की दवा अगर आप अपनी बकरियों की डीवॉर्मिंग नहीं करवाओगे। तो आपकी बकरी समय पर हीट में नहीं आएगी और आपको इससे नुकसान होगा इसलिए डीवॉर्मिंग जरूर करवाएं।
  2. मिनरल मिक्सर- आप बकरी को जन्म के समय से ही मिनरल मिक्सर देना शुरू कर दे। मिनरल मिक्सर आपको 20 से 25 विटामिन वाला लेना है और यह बकरी को 20 से 30 ग्राम रोजाना देना है इससे आपकी बकरी बहुत अच्छी हीट में आएगी।

जानिए बकरी को हीट में लाने का तरीका

इसको भी पढ़े बकरियों में होने वाले रोग, लक्ष्ण, घरेलू इलाज, उपचार कैसे करे

बकरी को हीट में लाने का देशी तरीका

मोठ दाल (Turkish Gram)- 100 ग्राम मोठ की दाल को किसी कपड़े में बांधकर उसे 1 मिनट तक पानी में भिगो ले और उसे 8 से 10 घंटे (1 रात) रख दे। उसके बाद मोठ की दाल अंकुरित हो जाएगी फिर उसमें एक कप सरसों का तेल मिलाकर अपनी बकरी के सामने रख दें और उसे बकरी अच्छे से खा लेगी।

यदि उसे बकरी नहीं खाती है तो बकरी को थोड़ी देर भूखा रखकर उसे खिलाए। इससे बकरी मोठ की दाल को आराम से खा लेगी। इसके बाद बकरी जरूर हीट में आ जाएगी।

गाभिन बकरी की देखभाल कैसे करें?

गाभिन बकरी की देखभाल करना बहुत जरूरी है अगर आप उसके देखभाल नहीं करते हैं तो इससे आपको बहुत बड़ा नुकसान हो सकता है और आपके बकरी पालन में बहुत घाटा होगा।

गाभिन बकरी की देखभाल करने के मुख्य बिंदु

Gabhin Bakri ki dekhbhal kaise karen.
  • गाभिन बकरी का आवास एकदम से साफ सुथरा होना चाहिए, हवादार होना चाहिए, वहां पर गीलापन नहीं होना चाहिए और किसी भी शोर-शराबे से एकदम दूर चाहे बारिश हो, चाहे गर्मी हो, चाहे सर्दी हो हर मौसम में गाभिन बकरी को उसके अनुकूल होना चाहिए उसके स्वास्थ्य के अनुकूल होना चाहिए।
  • गाभिन बकरी को पानी की भरपूर मात्रा होनी चाहिए और पानी एकदम से साफ पीने लायक होना चाहिए। गंदा पानी गाभिन बकरी या किसी भी बकरी को बिल्कुल भी न पिलाएं। खास तौर पर गाभिन बकरी को बिल्कुल भी न पिलाएं। अगर सर्दी का मौसम है तो गाभिन बकरी को हल्का गर्म पानी पिलाई यदि गर्मी का मौसम है तो हल्का ठंडा पानी पिलाई जो हमारे पीने लायक होता है।
  • गाभिन बकरी को अन्य बकरियों से अलग रखें और मुख्य रूप से गाभिन बकरी को बकरे से अलग रखें। क्योंकि गाभिन बकरी को किसी भी प्रकार की चोट छोटी मोटी भी बकरी के लिए बहुत नुकसानदायक हो सकती है।
  • गाभिन बकरी जहां पर भी बैठती है वह जगह सॉफ्ट और मुलायम होनी चाहिए या फिर गाभिन बकरी के नीचे सूखी पुराल डाल दे जिससे बकरी को बैठने में कोई परेशानी ना हो। इसके अलावा वह जगह समतल भी होनी चाहिए।
  • गाभिन बकरी को बियाने में अगर 15 से 10 दिन है तो उस बकरी को चरने के लिए बाहर अन्य बकरियों या बकरों के साथ न भेजें। बल्कि उस बकरी को घर पर ही चराये।

क्या आप जानते है बकरी के बच्चे को किया खिलाये, कहा से ख़रीदे, बीमारी और इलाज

गाभिन बकरी को क्या खिलाएं

आपके बकरी फार्म में यदि कोई बकरी गाभिन है तो आपको उस गाभिन बकरी को क्या-क्या खिलाना है वह नीचे बताया गया है।

Gabhin Bakri ko kya khilana chahie

हरा चारा– हरे चारे की बहुत अच्छे मात्रा आप रखें और उसे गाभिन बकरी को खिलाएं। हरा चारा गाभिन बकरी को हमेशा दोपहर के समय खिलाएं। हरे चारे में आप पेड़ों की हरी पत्तियां, हरी घास, बरसी आदि।

सूखा चारा– गाभिन बकरी को हमें सूखा चारा भी देना है सूखा चारा गाभिन बकरी को 20% खिलाना है जोकि फाइबर के लिए बहुत अच्छा रहता है और गाभिन बकरी को सूखा चारा सुबह के समय दें।

दाना मिश्रण– दाना मिश्रण में हमें विशेष तोर से जो अनाज लेने हैं मक्का, गेहूं, जो यह हमें 50% लेने हैं इसके अलावा 20% हमें बकरी को खली भी देनी है खली में आप बिनोले की खली, सरसों की खली।

चोकर– इसके बाद गाभिन बकरी को 20% चोकर भी देना है। चोकर में आप गेहूं का चोकर, चने का चोकर या चने के छिलके का चोकर भी आप ले सकते हैं

दाल– गाभिन बकरी को 5% दाल भी देनी है दालों में आप अरहर की दाल, मूंग की दाल, चने की दाल आदि इसके अलावा आप कोई भी डाल ले सकते हैं।

जानिए बकरी की नस्ल कितने प्रकार की होती है?

बकरी को गाभिन कैसे करें?

सुनिए, बकरियां आमतौर पर 24-40 घंटों तक मदकाल में रहती हैं, और इस सीमित समय अवधि में प्रजनन योग्य बकरे से गर्भाधान कराने पर गर्भधारण करती है। यदि बकरी रात के समय मध्यकाल में आये, तो वह अगली सुबह और रात में गर्भवती होगी। सुबह आने वाली बकरियों को उस रात और अगले दिन सुबह गर्भवती होना चाहिए।

बकरी के पेट में बच्चा मर जाए तो क्या करें

यदि बकरी के पेट में बच्चा मर जाता है तो हमें बिना देर किए किसी अच्छे पशु चिकित्सक को संपर्क करना चाहिए और बिना देर किए बच्चे को पशु चिकित्सक की मदद से निकाल देना चाहिए, नहीं तो बकरी की जान को खतरा हो सकता है।

गाभिन (गर्भवती) बकरी से संबंधित प्रश्न (FAQ)

  1. बकरी प्रेग्नेंट है या नहीं कैसे पता करें?

    बकरी प्रेग्नेंट है या नहीं इसका पता करने के लिए जिस बकरी के बारे में पता करना है उस बकरी को सब बकरियों से अलग करके बांध दें और उस पर नजर रखें, उस बकरी के गर्भ में बच्चा होगा तो वह कूदता या हिलता नजर आएगा, यदि आपको सही जानकारी चाहिए तो आप अपने पशु चिकित्सक को बुलाकर चेक करवा सकते हैं वह आपको सही जानकारी बता देगा।

  2. बकरी हिट पर कब आती है?

    उत्तरी भारत में बकरियों को 15 सितंबर-नवंबर और 15 अप्रैल-जून के बीच गर्भ धारण करना चाहिए। सही समय पर गर्भवती बकरियों द्वारा नवजात मेमनों की मृत्यु दर कम होती है। “

  3. बकरी का गर्भ कितने दिन का होता है?

    बकरी का गर्भधारण के दौरान की अवधि को उसकी गर्भावस्था या बकरी का गर्भकाल कहा जाता है। एक बकरी का गर्भावस्था सामान्यतः 145 से 155 दिनों तक की होती है, जो कि लगभग 5 महीनों के बराबर होती है।

  4. बकरी कितने दिन में बच्चा देती है?

    बकरी की गर्भावस्था की अवधि लगभग 145-155 दिन होती है। इस अवधि को बकरी के गर्भावस्था के दौरान “क्रिटिकल पीरियड” कहा जाता है। बकरी बच्चा देने से कुछ हफ्तों पहले, उसकी डबली या थन फूलने लगती है जो बताता है कि वह जल्द ही बच्चा देने वाली है।अधिकांश बकरियां 170 से 180 दिनों के बीच बच्चे को जन्म देती हैं, इसके अलावा कुछ बकरियां ऐसी भी हैं जो साल में एक बार ही बच्चे को जन्म देती हैं।

  5. बकरी कितने महीने में बच्चा देती है?

    बकरिया विभिन्न प्रजाति की पाई जाती है जो अलग-अलग समय पर बच्चा देती है। बकरी की गर्भावस्था की अवधि आमतौर पर 145 से 155 दिन के बीच होती है, जो लगभग 5 महीनों के बराबर होती है। बकरियों की जाति, उम्र, पोषण स्तर, गर्भावस्था की दृष्टि से बच्चों के जन्म का समय अलग-अलग होता है। यदि बकरी को उचित देखभाल और पोषण प्रदान किया जाता है तो वह अधिकतम 4 से 6 महीनों के बीच में बच्चा देती है।

Conclusion

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको गाभिन (गर्भवती) बकरी से संबंधित डिटेल में जानकारी दी है।

आप हमें कमेंट करके बताएं कि हेलो आपकी बकरी गाभिन है या नहीं। और उसकी देखभाल कैसे करते हैं।

अगर आपकी कोई राय है तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

यह पोस्ट केसी लगी?
+1
1
+1
0
+1
3
+1
0
+1
0

Leave a Comment